सोमवार, 27 दिसंबर 2010

बदलता है

कभी चेहरा कभी दर्पण बदलता है
हजारो बार अपना मन बदलता है
हमेशा याद रखना अनुभवों का पाठ
किताबों से कहाँ जीवन बदलता है
भरोसा किस तरह कोई करे उसका
जरा सी बात पे जो मन बदलता है
बदल दूंगा उसे भी एक दिन देखो
हमेशा प्यार से दुश्मन बदलता है

1 टिप्पणी:

  1. sahi baat kahi aapne...."change is d law of nature"....jisne mann par kabu pa liya...mano sab kuch pa liya....haan ye aksar dekha gya hai pyaar aur meethi boli se dusman v badal jaate haiii

    उत्तर देंहटाएं